करवा चौथ व्रत कथा करवा चौथ पूजा विधि करवा चौथ की मुहूर्त 2016 करवा चौथ पूजा का समय करवा चौथ शुभ मुहूर्त

By | September 29, 2016

आप सभी प्यारी और सुंदर सभी महिलाओं को करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं!  करवा चौथ सभी शादीशुदा महिलाओं के द्वारा बनाया जाता है , अपने पति की लंबी आयु के साथ सुख में आनंदमय जीवन के लिए किया जाता है | करवा चौथ बहुत सारे महिला लड़कियां जिसकी नई-नई शादी होती है उन्हें यह सारी बातें पता नहीं होती है तो हम इस पोस्ट के द्वारा वह सारी बातें बताने जा रहे हैं | करवा चौथ भारतीय सभ्यता के अनुसार या अपने पति के लंबे जीवन और सुखमय जीवन की कामना के लिए की जाती है , तो आप यहां से जानकारी प्राप्त कर सकते है |

करवा चौथ क्यों करते हैं , करवा चौथ कैसे करते हैं , करवा चौथ की कथा हिंदी में,  करवा चौथ की पूरी कहानी तथा  करवा चौथ गणेश विनायक की कहानी एवम करवा चौथ व्रत करने की विधि हिंदी में,  यह सारी चीजें दिया गया है और उम्मीद करता हूं कि यहाँ से पूरी जानकारी आपको पसंद आईगी जो की आसान शब्दों में दिया गया | और यह सारी जानकारी आपके लिए

गणेश जी/ विनायक जी की कहानीkarwa-chauth-vart-pic-and-vidhi

एक अंधी बुढ़िया थी, जिसका एक लड़का और उस लड़के की बहू थी| वह बूढ़ी औरत बहुत ही गरीब थी और वह अंधेरी थी अंधे थे अंधे अंधे आंधी थी| वह अंधी बुढ़िया रोज गणेश जी की पूजा करते थी | गणेश जी उसके साथ-साथ सम्मुख आकर मनचाहे चीज पाने की वरदान मांगने के लिए कहा तो गुड़िया ने कहा कि मुझे माँगना नहीं आता है, तब गणेश जी ने कहे कि तुम अपने बहू या बेटे से पूछकर मांग लेना तो जब वह अपने बेटे से पूछा कि क्या मांगे तो बेटा ने कहा की बहुत सारा धन मांग लेना फिर वह बहुत से तो पहुंचने का की एक पोटा आपके लिए कुछ मांग रहे हैं| फिर वह अपने पड़ोसी से पूछे अपने लिए क्योंकि जब तुम्हारे पास जो बचा हुआ समय है , तुम कर सकती हो क्या हुआ बॉडी बुढ़िया ने सोचा कि क्यों ना ऐसा कुछ मांगा जाए, जिससे कि सभी की मनोकामना पूरी हो जाए मेरी बहु, मेरा बेटा और मेरा फिर अगले दिन गणेश जी ने साथ-साथ साक्षात आ कर के कहा कि मांगो जो तुम मांगना चाहती हो| मेरा वचन है कि जो तू मांगेगी सही हो जाएगा |

वही तुम पाओगी सब करने तब बुढ़िया ने बोली थी, यदि आप मुझ पर प्रसन्न है, तो मुझे निरोगी काया , अमर सुहाग से आंखों में प्रकाश के नाती पोता दें | और समस्त परिवार को सुख देश और अंत में मोक्ष दें | बुढ़िया के बात सुनकर गणेश जी बोले बुढ़िया मां तूने मुझे भी जीत लिया जो कुछ तूने माग वो सब तुझे मिलेगा| फिर गणेश जी अंतर्ध्यान हो गए हे,  गणेश जी जैसा आपने उस बुढ़िया को दिया और उसकी हर मांग को पूरा किया उसी प्रकार आप मेरे भी सारी मनोकामना पूरी करना| उसी तरह हम सब पर कृपा बनाए रखना |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *