करवा चौथ पूजा विधि | करवा चौथ पूजा का सामान | करवा चौथ का सब जानकारी

By | September 29, 2016

 एक थाली में 13 जगह 4 दो पूरी और थोड़ा सा खीर रखने उसके ऊपर एक सारी ब्लाउज और उपर जितना चाहे रख ले उस थाली के चारों को रोली चावल से हाथ फेर कर अपनी सूजी के पास छोकर उन्हें देवें उसके बाद 13 ब्राह्मणों को भोजन कराए और दक्षिणा देकर तथा बिंदी लगाकर उन्हें विदा करें वह जमाना पूजा

-: करवा चौथ पूजा विधि  | करवा चौथ पूजा का  सामान  | करवा चौथ का सब जानकारी :-

करवा चौथ का व्रत कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ कहते हैं, में श्री गणेश जी का पूजन करके उन्हें पूजन दान से प्रसन्न किया जाता है | इसका विधान की चतुर्थी में दिया है परंतु विशेषता यह है कि इसमें गेहूं का करवा भर कर पूजन किया जाता है, और विवाहित लड़कियों के यहां चीनी के करवे बिहार से भेजे जाते हैं तथा इसमें निम्नलिखित कहानी सुनकर चंद्र मैं आते देखकर व्रत खोला जाता है |

कथा एक साहूकार के सात लड़के और एक लड़की थी सेठानी के सहित उसकी बहू और बेटी ने करवा चौथ का व्रत रखा था रात्रि को साहूकार के लड़के भोजन करने लगे तो उन्होंने अपनी बहन से भोजन के लिए का इस पर बहन ने उत्तर दिया अभी चांद नहीं निकला है उसके निकलने पर भोजन करूंगी उनकी आवाज सुनकर भाइयों ने  यह सुनकर वह अपने भाभियों से कहा आओ तुम भी चंद्रमा को अर्ध्य देना हेलो परंतु वह इस कांड को जानती थी उन्होंने कहा ओए जी अभी चांद नहीं निकला तेरे भाई ने तेरे से धोखा करते हुए अग्नि का प्रकाश छलनी से दिखा रहे हैं | अभी और की बात सुनकर भी उसने कुछ ध्यान ना दिया वह भाइयों द्वारा दिखाए प्रकाश को ही हर्दय अर्थ है अर्थ अर्थ है आकर भोजन कर लिया इस प्रकार वर्तमान से गणेश जी उस पर क्रोधित हो गए के बाद उसका पति सख्त बीमार हो गया, और जो कुछ घर में था| उसकी बीमारी में गया लग गया जब उसे अपने किए हुए दोस्तों का पता लगा तो उसने पश्चाताप किया गणेश जी की प्रार्थना करते हुए वीडियो विधान से सुना चतुर्थी का व्रत आरंभ कर दिया श्रद्धा अनुसार म का आदर करते हुए सबसे आशीर्वाद ग्राम में ही मन को लगा दिया इस प्रकार से श्रद्धा भक्ति सहित कर्म को देख कर भगवान गणेश जी उस पर प्रसन्न हो गए और उसके पति का जीवन दान देकर उसे आरोग्य करने के पश्चात संपत्ति से युक्त कर दिया इस प्रकार से कोई छल कपट को त्याग श्रद्धा भक्ति से चतुर्थी का व्रत करेंगे सब प्रकार से सुखी होते हुए पैसों से मुक्त हो जाएंगे

करवा चौथ का और जानकारी के लिए क्लिक   करवा चौथ व्रत कथा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *